Charaka Samhita Pdf Download (Hindi)

Charaka Samhita को आप यदि डाउनलोड करना चाहते है तो आप हमारे इस वेबसाइट से डाउनलोड कर सकते है ! तथा आप हमारे इस वेबसाइट से Charaka Samhita के बारे में विस्तृत जानकारी ले सकते है !

नमस्कार दोस्तों ,

आज मै आपके बहुत ही महत्पूर्ण लेख केकर आया हु जिसका नाम चरक संहिता है , आज कल चारो तरफ सिर्फ और सिर्फ खाद पदार्थ और चाइनिज फ़ूड का सेवन हो रहा है जो हमारे शारीर के लिए वेहद ही हानिकारक है ! इससे हमारे शारीर में तरह के वीमारी उतपन हो सकता है , और काफी वीमार हो सकते हैं , तो चलिए कोई बात नहीं , इस उपन्यास के मदद से आप अपने शरीर को की शुरक्षित ,स्वस्थ रख सकते है जो सारे टीप्स जानेंगे !

Charaka Samhita

चरक कौन थे ?


प्राचीन काल में जब चिकित्स का विकास नहीं हुआ था लगभग 2000 वर्ष पूर्व भारत में एक महान चिकित्षा हुआ करते थे ,जिन्होंने आयुर्वेद चिकित्षा के क्षेत्र में शारीर विज्ञान , वेदान शास्त्र और भ्रूण विज्ञान जैसे पुस्तक लिखे हैं ! इस पुस्तक को आज भी चिकित्सा के क्षेत्र में बहुत सामान दिया जाता है ! चरक वैस्यन्न के शिष्य थे ,इनके चरक संहिता किताब में ज्यादातार पश्चिम देशो का वर्णन किया गया है इसीलिए वो पश्चिम देश का ही परिवाशी थे ऐसा मन जाता है !

चरक का मानना है की जो चिकिस्त्सा अपने ज्ञान और समझ का दीपक लेकर विमर शारीर को नहीं समझता जो वीमारी कैसे ठीक कर सकता है ! इसलिए सबसे पहले उन सब कारणों का अध्यन करना चाहिए जो रोगी को प्रवित करता है फीर उसका इलाज करना चाहिए !

बीमारी से दूर होने से संबंधित अरिष्ट लक्षणों को भी बताया गया है जैसे कि

  • आयुर्वेदिक संपूर्ण विज्ञान है जिसके कई पहलुओं को जानना आज के विज्ञान के लिए चुनौती है आयुर्वेद के ग्रंथ चरक संघिता केंद्रीय धान में किस कि रोगी के ठीक होने के लक्षण और तथा मृत्यु सूचक लक्षणों को देखकर के पहचानने का वर्णन किया गया है जो बड़ा ही रोचक है ऐसे ही कुछ रोचक पहलुओं को आपके सामने हम इस वीडियो के माध्यम से प्रस्तुत कर रहे हैं आयुर्वेद से जुड़ी हुई अजीब बातें हैं !
  • यदि व्यक्ति सफेद वस्तुओं को देखना मथुरा से शंख ध्वनि सुनना है इत्यादि भी शीघ्र ही ठीक होने के लक्षण बताए गए हैं यानी कि आप किसी रोग से पीड़ित है लेकिन ऐसी सुखद चीजें का आपको सहयोग मिले तो आप जल्दी ठीक होते हैं यह मदद कर देते हैं !
  • यदि व्यक्ति सपने में स्नान और चंदन का लेप किया हुआ दिखे तथा मुख्य उसके शरीर पर बैठी हूं तो वह व्यक्ति मधुमेह से पीड़ित होकर की मृत्यु को प्राप्त होगा ऐसा उस में वर्णित है !
  • व्यक्ति स्वयं को सपने में देखता है तथा संपूर्ण शरीर में ही लगाया हुआ तथा जिस भूमि में कुछ वाला नहीं है उसमें हवन करता हुआ देखता है तो वैसे व्यक्ति की असाध्य त्वचा रोगों से पीड़ित होकर के मृत्यु होने की संभावना होती है !
  • जो व्यक्ति श्रम न करने पर भी थकान महसूस करें बिना कारण बेचैन हो जहां मुंह नहीं करना चाहिए वहां मुंह करें पहले से ग्रुप ही ना हो पर अचानक क्रोधी स्वभाव का हो जाए मूर्छा और प्रयास से पीड़ित हो तो समझे वह मानसिक रूप से पीड़ित हो जाएगा यदि रोगी व्यक्ति स्वप्न में कुत्ते की सवारी करता हुआ दक्षिण दिशा की ओर जाता है तथा विचित्र प्रकार की आकृतियों के साथ मदिरापान करता हुआ स्वयं को देखता है तो वह रोगों के समूह से पीड़ित होगा !
  • दोष में यदि रोगी दही अक्षत अग्नि लड्डू बंधे हुए पशु बछड़े के साथ गाय बच्चे के साथ स्त्री सारस हंस भी सेंधा नमक पीली सरसों गुरुजन मनुष्यों से भरी गाड़ी इत्यादि देखता है तो आरोग्य प्राप्त करता है यानी कि रोगी नहीं होता है !
  • यदि रोगी उधर पर सांवली तांबे के रंग की लाल नीली हल्दी की तरह की रेखाएं उभर जाए तो रोगी का जीवन खतरे में है ऐसा बताया जाता है !
  • अपने केश यानी कि बाल और रोएं को पकड़कर खींचे और उखड़ जाए तथा उसे वेदना ना हो तो रोगी की आयु पूर्ण हो गई है ऐसा मानना चाहिए !
  • व्यक्ति स्वप्न में अपने शरीर पर लगाएं उत्पन्न देखें और पंछी उस पर भोंसले बना करके रहे हुए दिखे तो उसके जीवन में संदेह है इसी प्रकार यदि स्वप्न में व्यक्ति अपना बाल उतरा हुआ देखें तो वह भी रोगी होगा !
  • जिस व्यक्ति का श्वाश छोटा चल रहा हो तथा उसे कैसे भी शांति ना मिल रही हो तो उसका बचना मुश्किल हो जाता है !
  • यदि रोगी व्यक्ति स्वप्न में बर्बाद हाथी घोड़े पर स्वयं को या अपने हितेश क्यों को चलते हुए देखता है साथ ही साथ समुद्र या नदी में तैरते हुए उसको पार करता हुआ देखता है चंद्रमा सूर्य एवं अग्नि को प्रकाशित देखता है तो आरोग्य को प्राप्त होता है
  • व्यक्ति का थूक पानी में डूब जाए तो आयुर्वेद के राशियों के अनुसार उसकी मृत्यु निश्चित माननी चाहिए ऐसा हो सकता है कि आयुर्वेद के जानकारों द्वारा उनके अनुभव के आधार पर इकट्ठा किया गया यह ज्ञान चिकित्सकों एवं रोगी के परिवार जनों की जानकारी के लिए रोगी के ठीक होने और न होने की संभावना को व्यक्त करने के उद्देश्य से बताए गए हैं जो कि आज भी उतने ही महत्वपूर्ण है !

Download Charaka Samhita Pdf

डिस्क्लेमर :- HindiGyan किसी भी प्रकार के पायरेसी को बढ़ावा नही देता है, यह पीडीऍफ़ सिर्फ शिक्षा के उद्देश्य से दिया गया है! पायरेसी करना गैरकानूनी है! अत आप किसी भी किताब को खरीद कर ही पढ़े ! इस लेख को अपने दोस्तों के साथ भी जरुर शेयर करे !


Download Charaka SamhitaBuy on Amazon
Download Charaka SamhitaBuy on Amazon low price