How to Become a PARA Commando in Indian Army ?

आज हम बात करेंगे की आप किस तरह से पैरा कमांडो बन सकते है !  यानी How to Become a PARA Commando in Indian Army ? या इंडियन आर्मी की शान है ! आज इसके बारे में आपको पूरी जानकारी देंगे !

How to Become a PARA Commando in the Indian Army?

Para Commando इंडियन आर्मी की पैराशूट रेजिमेंट की एक स्पेशल फ़ोर्स यूनिट है , जिसे डायरेक्ट एक्शन रेस्क्यू , काउंटर टेरेरिस्म , कन्वेंशनल और अनकन्वेंशनल  वारफेयर , और भी बहुत से इमरजेंसी ऑपरेशन के लिए सन 1966 में बनाया गया था ! एक पैराकमांडो की पहचान उसकी मेहरून बैरेट , उसके स्पेशल फ़ोर्स के सोल्डर टाइटल और बलिदान बैच से होती है ! और केवल पैरा कमांडो को ही बलिदान बैच दिया जाता है !
images


पैरा कमांडो भारत की बेहतरीन फोर्सेस में से एक होने के साथ – साथ ये इंडियन आर्मी की सबसे खतरनाक यूनिट्स में भी आती है ! पैरा कमांडो का मोटो है !

“Man apart, every
man an emperor”

पैरा कमांडो अपने स्थापना के बाद से कई बड़े ऑपरेशन में अपनी काबिलियत साबित कर चुके है ! और इन्होने अपने देश में ही नही बल्कि विदेशो ने कई बड़े ऑपरेशन की अंजाम दिया है !

पैरा कमांडो बनाने के लिए हमारी काबिलियत क्या होनी चाहिए ?

अगर आप 10th , 12th या स्नातक तक की पढाई की है तो आप पैरा कमांडो के लिए अप्लाई फॉर्म भर सकते है ! लेकिन मार्कोस के जैसे ही पैरा कमांडो के लिए भी कोई सीधी भर्ती या या कोई परीक्षा नही होती है ! क्योंकि पैरा कमांडो इंडियन आर्मी की स्पेशल फ़ोर्स यूनिट है , तो इसके लिए सबसे पहले आपको इंडियन आर्मी को ज्वाइन करनी होती है ! तभी आप पैरा के सिलेक्शन के लिए अप्लाई कर सकते है !
आप पैरा स्पेशल फ़ोर्स के सिलेक्शन के लिए किसी भी रैंक से अप्लाई कर सकते है ! फिर चाहे वो कमिशन रैंक हो या नॉन कमीशन ,  अगर बात करे इसकी उम्र सीमा की तो पैरा स्पेशल फ़ोर्स के लिए वैसे तो कोई सीमा निर्धारित नही होती है , लेकिन पैरा स्पेशल फ़ोर्स के लिए ज्यादातर उम्मीदवार को उनकी यंग उम्र में ही चुना जाता है, क्योकि पैरा कमांडो का सिलेक्शन प्रोसिजर बहुत ही कठिन होता है ! जो की ज्यादा उम्र के उम्मीदवार को पास कर पाना बहुत ही मुश्किल है ! इसलिए पैरा स्पेशल फ़ोर्स के लिए 20 से 25 के उम्र के जवान को चुना जाता है !
अगर हम बात करे इसके सिलेक्शन प्रोसिजर की तो हम आपको बता दे पैरा स्पेशल फ़ोर्स के लिए सबसे पहले PARATROOPER को पास करना होता है ! और PARATROOPER का सिलेक्शन प्रोसेस लगभग 3 महीने तक चलता है ! और जो उम्मीदवार इसे पास कर लेते है , उन्हें पैरा स्पेशल फ़ोर्स के सिलेक्शन के लिए आगे भेजा जाता है ! और जो उम्मीदवार इसे पास नही कर पाते है उन्हें वापस उनके रेजिमेंट में भेज दिया जाता है !
पैरा स्पेशल फ़ोर्स का सिलेक्शन साल में 2 बार होता है , और इसकी ट्रेनिंग समय 6 महीनो का होता है! इसका सिलेक्शन प्रोसीजर दुनिया के सबसे लम्बे और कठिन ट्रेनिंग प्रोग्राम में से एक है ! जिसमे उम्मीदवार को MENTAL और PHYSIACL टार्चर का सामना करना पड़ता है ! इसकी ट्रेनिंग इतनी कठिन होती है की इसमे सिर्फ 10 % उम्मीदवार ही पास कर पाते है ! और जो उम्मीदवार 180 दिन लम्बे ट्रेनिंग को पास कर लेता है ! फिर उन्हें बलिदान बैच के प्रोसेस के लिए भेजा जाता है ! जिसमे उम्मीदवार को ट्रेनिंग के बाद 1 साल के लिए उन्हें खरनाक इलाको में चल रहे ऑपरेशन के लिए भेजा जाता है ! और उम्मीदवार इसमें खरे उतरते है उन्हें बलिदान बैच दिया जाता है ! और तब जाकर उम्मीदवार को औपचारिक रूप से उम्मीदवार को पैरा स्पेशल फ़ोर्स के रेजिमेंट में शामिल किया जाता है !
पैरा कमांडो की ऑफिसियल ट्रेनिंग 3.5 साल की होती है , जिसमे कमांडो को बेसिक और एडवांस दोनों तरह की ट्रेनिंग दी जाती है ! पैरा कमांडो को ट्रेनिंग के दौरान 50 जम्प्स लगाते है वो भी 33,500 हजार फीट की ऊचाई से ! कमांडो की  ट्रेनिंग NAVEL DIVING SCHOOL , कोच्ची में होती है ! अगर आसान भाषा में कहाँ जाए तो पैरा कमांडो वो कमांडो होते है जो किसी भी युद्ध का रुख बदलने की क्षमता रखते है !

I am a Digital Marketer and Serial Entrepreneur. I am having Years of experience in the field of digital marketing. I Love Hindi Blogging, Create Brands, and Run Paid Ads. I have helped more than 100+ Clients and Companies with their Online Reputation.

Leave a Comment