Kala Bhairava Shtakam Pdf Download in Hindi with Lyrics

Kala Bhairava भगवान शिव का रूप माने जाते हैं , इनका उपासना करने से बड़े से बड़े बाधा टल जाता है, Kala Bhairava यानी भय मिटाने वाले भरण पोषण करने वाले देवता माने जाते हैं ! कलिका पुराण के अनुसार भैरव शिव जी का ही अभीन अंग है , इनका वाहन एक पक्षी यानी स्वान है ! किसी भी पूजा या पीठ में सबसे पहले इनका ही पूजा किया जाता है , अन्यथा पूजा को शुद्ध नहीं माना जाता है !

Kala Bhairava को पूजा करने एवं इन्हें खुश करने वाले ग्रन्थ का नाम काल भैरव कष्टकम है जिसका रचना श्रीमद् शंकराचार्य जी ने किए हैं !

Kala Bhairava

आदि शंकराचार्य कौन थे ?

आदि शंकराचार्य भारत के एक महान धर्मप्रवर्तक थे ! उन्होने बहुत सारे वेड और उपनिसाद लिखे हैं , उनमे से भगवद्गीता, उपनिषदों और वेदांतसूत्रों पर लिखी हुई इनकी रचना बहुत प्रसिद्ध हैं ! उन्होंने सांख्य दर्शन का प्रधानकारणवाद और मीमांसा दर्शन के ज्ञान-कर्मसमुच्चयवाद आदि को रचना किया ! इन्होंने भारतवर्ष में चार कोनों में चार मठों की स्थापना कीये थी जो अभी तक बहुत विश्व प्रसिद्ध और पवित्र माने जाते हैं ! और इन्ही के वजह से संन्यासी ‘शंकराचार्य’ कहे जाते हैं ! वे चारों स्थान ये हैं- (१) ज्योतिष्पीठ बदरिकाश्रम, (२) श्रृंगेरी पीठ, (३) द्वारिका शारदा पीठ और (४) पुरी गोवर्धन पीठ ! इन्हें शंकर के अवतार भी माना जाता हैं !

Kala Bhairava Strotra in Hindi

  • जिनके पवित्र चरण-कमल की सेवा देवराज इंद्र सदा करते रहते हैं एवं जिन्होंने शिरो भूषण के रूप में चंद्रमा और धर्म का यज्ञोपवीत धारण किया है ! जो दिगंबर बीच में है एवं नारद आदि सारे सन्त जिनकी वंदना करता रहता है, ऐसे काशी नगरी के स्वामी कृपालु काल भैरव आराधना करता हूं !
  • जो करोड़ों सूर्य के समान दीप्तिमान है , जो संसार समुद्र से तारने वाले हैं, नीलकंठ वाले हैं ,आप दोस्तों को देने वाले ,तीन नेत्रों वाले, काल के भी महाकाल एवं कमल के समान नेत्र वाले तथा अक्षमाला और त्रिशूल धारण करने वाले हैं एवं उनका की नगरी के स्वामी अविनाश हुई काल भैरव उपासना करता हूं !
  • अर्थात जिनके शरीर कांति राम मणि है, तथा जिन्होंने अपने हाथों में शुल टांक, पाश और दंड धारण किया है ! जो आदि देव, अविनाशी और आधी कारण हैं ! जो विभिन्न रूपों से रहे थे और जिनका प्राण एवं महान है जो धर्म समान है , ऐसे काशी नगरी के भविष्य काल भैरव मैं वंदना करता हूं !
  • अर्थात जिनका स्वरूप सुंदर और प्रशंसनीय है, सारा संसार जिनका शरीर की गति प्रदेश में सोने की सुंदर का धनी लोन चुन करती हुई सुशोभित हो रहे हैं, जो भक्तों के प्रिय एवं फिर शिव स्वरूप हैं ऐसे मुक्ति तथा मुक्ति प्रदान करने वाले काशी नगरी के अंधविश्वास काल भैरव की आराधना करता हूं !
  • जो धर्म सेतु के पालन एवं अधर्म के नाशक है तथा कर्मपाल से जुड़ आने वाले प्रश्न कल्याण प्रदान करने वाले और व्यापक हैं, जिनका सारा अंग मंडल स्वर्ण वर्ण वाले हिसाब से सुशोभित है उसे कशिनगरी के अधिस्वर काल भैरव आराधना करता हूं !
  • जिनके चरण युगल रत्नमई खड़ाऊ की क्रांति से सुशोभित हो रहे हैं जो निर्मल, महेश्वर ,अविनाशी है तथा सभी के इष्ट देवता है ! मृत्यु के अभिमान को नष्ट करने वाले हैं एवं काल के भयंकर दातो से मोक्ष दिलाने वाले हैं, ऐसे काशी नगरी के आगे स्वर्ण काल भैरव जी मैं आराधना करता हूं !
  • जिनके हाथ से ब्रह्मांड के समूह विलीन हो जाते हैं , जिनकी कृपा से पापों के समूह विनाश हो जाते हैं, जिनका शासन का कटूर है , जो 8 प्रकार की सिद्धियां प्रदान करने वाले तथा कपाल की माला धारण करने वाले हैं, ऐसे काशी नगरी के अविष्कारक काल भैरव का में सद्भावना करता हूं !
  • जो समस्त स्थानीय समुदाय के नायक हैं, जो अपने समस्त भक्तों को विशाल नियुक्ति प्रदान करने हैं , जो काशी में निवास करने वाले सभी लोगों के पुन और पाप का हिसाब रखते हैं , जो नीति मार्ग के महान बेता, पुरातन से पुरातन, संसार के स्वामी हैं, ऐसे काशी नगरी के अधिश्वर काल भैरव की आराधना करता हूं !
  • ज्ञान और मुक्ति प्रदान करने के साधन भक्तों के विचित्र पुण्य की वृद्धि करने वाले लोग मुंह विंदालू को प्रधानता को नष्ट करने वाले इस मनोहर कालभैरवाष्टक का जो लोग एक पाठ करते हैं वे निश्चित ही काल भैरव के चरणों की विधि प्राप्त कर लेते हैं !

उपासना कैसे करें ?


अपने घर के पूर्व दिशा में किसी एक चौकी पर लाल कपडा बिछा ले , और उसपर काल भैरव का फोटो रख ले ! फिर इशान कोण में सरसों के तेल का जला लें ! तत्पश्चात जहाँ पर काल भैरव का फोटो रखे है उसके सामने एक लाल रंग का आसन बिछा दे , और उसपर बैठ जाये फिर हाथो में जल लेकर मन्त्र का जाप करें ! इस तरह से 40 दिन तक जाप करें !

Download Kala Bhairava Shtakam

डिस्क्लेमर :- Hindi Gyan किसी भी प्रकार के पायरेसी को बढ़ावा नही देता है, यह पीडीऍफ़ सिर्फ शिक्षा के उद्देश्य से दिया गया है! पायरेसी करना गैरकानूनी है! अत आप किसी भी किताब को खरीद कर ही पढ़े ! इस लेख को अपने दोस्तों के साथ भी जरुर शेयर करे !


Kala Bhairava ShtakamBuy on Amazon