Laxmi Suktam PDF Download in Hindi

Laxmi Suktam पाठ से माँ लक्ष्मी की अशीम कृपा प्राप्त होता है , Laxmi Suktam पाठ करने से धन , सुख और ऐश्वर्या प्राप्त होती है ! अत: इससे माँ लक्ष्मी की कृपा प्राप्त होता है !

आज के इस अर्टिकल में आपको laxmi suktam के पढने का सबसे आसान तरीका बताऊंगा और साथ ही इससे होने बाले लाभ को पूरी जानकारी देने वाला हूँ तथा साथ में आप सभी को मैं Laxmi Suktam Pdf भी देने वाला हूँ जिसे आप डाउनलोड करके पढ़ सकते है और उसका लाभ ले सकते है !

Laxmi Suktam

What is Laxmi Suktam in hindi

इस पुरे संसार में सायद ही कोई ऐसा इन्सान हो जिसे ममा पैसे की जरुरत नहीं या माँ लक्ष्मी की कामना नही हो , चाहे वो राजा हो या गरीब हो हर कोई चाहता है की मेरे पास बहुत सारा पैसा हो , सुख शांति हो ! और माता लक्ष्मी हमेशा उनके फहर पर निवास करें !

इस कलि काल में लक्ष्मी वान पुरुष को ही सर्वगुण संपन्न मन जाता है ! इसीलिए हर कोई चाहे व्वो राजा हो या गरीव धन को पाने का यथा प्रयास कार्त्ते हैं !

ऋग्वेद में मनुष्य के कल्याण के लिए श्री सूक्त का वर्णन किया गया है ! देवी लक्ष्मी को प्रशन्न करने के लिए विशेष विधि बताई गयी है ! और इसी पाठ से धन , दौलत ,सुख और शांति की प्राप्त होती है !

Laxmi Suktam in Hindi

हे लक्ष्मी देवी! आप कमलमुखी, कमल पुष्प पर विराजमान, कमल-दल के समान नेत्रों वाली, कमल पुष्पों को पसंद करने वाली हैं। सृष्टि के सभी जीव आपकी कृपा की कामना करते हैं। आप सबको मनोनुकूल फल देने वाली हैं। हे देवी! आपके चरण-कमल सदैव मेरे हृदय में स्थित हों !

हे लक्ष्मी देवी! आपका श्रीमुख, ऊरु भाग, नेत्र आदि कमल के समान हैं। आपकी उत्पत्ति कमल से हुई है। हे कमलनयनी! मैं आपका स्मरण करता हूँ, आप मुझ पर कृपा करें।

हे देवी! अश्व, गौ, धन आदि देने में आप समर्थ हैं। आप मुझे धन प्रदान करें। हे माता! मेरी सभी कामनाओं को आप पूर्ण करें।

हे देवी! आप सृष्टि के समस्त जीवों की माता हैं। आप मुझे पुत्र-पौत्र, धन-धान्य, हाथी-घोड़े, गौ, बैल, रथ आदि प्रदान करें।

आप मुझे दीर्घ-आयुष्य बनाएँ। हे लक्ष्मी! आप मुझे अग्नि, धन, वायु, सूर्य, जल, बृहस्पति, वरुण आदि की कृपा द्वारा धन की प्राप्ति कराएँ।


हे वैनतेय पुत्र गरुड़! वृत्रासुर के वधकर्ता, इंद्र, आदि समस्त देव जो अमृत पीने वाले हैं, मुझे अमृतयुक्त धन प्रदान करें।
इस सूक्त का पाठ करने वाले की क्रोध, मत्सर, लोभ व अन्य अशुभ कर्मों में वृत्ति नहीं रहती, वे सत्कर्म की ओर प्रेरित होते हैं।


हे त्रिभुवनेश्वरी! हे कमलनिवासिनी! आप हाथ में कमल धारण किए रहती हैं। श्वेत, स्वच्छ वस्त्र, चंदन व माला से युक्त हे विष्णुप्रिया देवी! आप सबके मन की जानने वाली हैं। आप मुझ दीन पर कृपा करें।

भगवान विष्णु की प्रिय पत्नी, माधवप्रिया, भगवान अच्युत की प्रेयसी, क्षमा की मूर्ति, लक्ष्मी देवी मैं आपको बारंबार नमन करता हूँ।


हम महादेवी लक्ष्मी का स्मरण करते हैं। विष्णुपत्नी लक्ष्मी हम पर कृपा करें, वे देवी हमें सत्कार्यों की ओर प्रवृत्त करें।

जो चंद्रमा की आभा के समान शीतल और सूर्य के समान परम तेजोमय हैं उन परमेश्वरी लक्ष्मीजी की हम आराधना करते हैं।

इस लक्ष्मी सूक्त का पाठ करने से व्यक्ति श्री, तेज, आयु, स्वास्थ्य से युक्त होकर शोभायमान रहता है। वह धन-धान्य व पशु धन सम्पन्न, पुत्रवान होकर दीर्घायु होता है।

Laxmi Suktam Benefits in Hindi

ऐसे तो इस ग्रन्थ का का बहुत ही लाभ है , लेकिन कुछ महत्वपूर्ण लाभ मै इस आर्टिकल में आपके साथ शेयर करने बाला हूँ ! ये कवच बहुत ही लाभकारी होता है इसे हर व्यक्ति को धारण करना चाहिए !

  • प्रतिदिन इस लक्ष्मी सुक्तम का पाठ करने से घर में सुख शांति बना रहता है !
  • लक्ष्मी सुक्तम बुरी आत्माओं से सुरक्षा प्रदान करता है !
  • ये कवच आपके शरीर को रक्षा करता है !
  • इसका पाठ करने घर में धन की वर्षा होती है !
  • इस कवच से दुश्मनों पर विजय प्राप्त किया जा सकता है !
  • इस कवच से शारीरिक कष्ट दूर हो जाते हैं !
  • इस कवच से सभी प्रकार की बाधा खत्म हो जाता हैं !
  • आपका हर परेशानी दूर हो जायेगा !
  • आपको ,व्यापार में तरक्की मिलेगा !

Laxmi Suktam Proccess in Hindi

  • सबसे पहले श्री लक्ष्मी जी का मूर्ति ले !
  • अच्छे तरीके से स्नान आदि कर ले !
  • दिए , धुप और अगरवती ले लें !
  • धुप अगरवती के बाद इस कवच को पढ़ सकते हैं !
  • मन को हमेशा साफ रखें !

Download Laxmi Suktam in Hindi

डिस्क्लेमर :- Hindi gyanकिसी भी प्रकार के पायरेसी को बढ़ावा नही देता है, यह पीडीऍफ़ सिर्फ शिक्षा के उद्देश्य से दिया गया है! पायरेसी करना गैरकानूनी है! अत आप किसी भी किताब को खरीद कर ही पढ़े ! इस लेख को अपने दोस्तों के साथ भी जरुर शेयर करे !