Narada Bhakti Sutra Pdf Dwnload in Hindi

भक्ति मार्ग दर्शन के लिए Narada Bhakti Sutra सबसे महत्वपूर्ण ग्रन्थ है ! Narada Bhakti Sutra का लेखक महर्षि नारद जी हैं ! यह 84 सूत्रो का रचा एक भक्ति ग्रन्थ है !

आज के इस अर्टिकल में आपको Narada Bhakti Sutra के पढने का सबसे आसान तरीका बताऊंगा और साथ ही इससे होने बाले लाभ को पूरी जानकारी देने वाला हूँ तथा साथ में आप सभी को मैं Narada Bhakti Sutra Pdf भी देने वाला हूँ जिसे आप डाउनलोड करके पढ़ सकते है और उसका लाभ ले सकते है !

Who is Narad ?

Narada Bhakti Sutra

नारद , ब्रह्मा जी के छः पुत्रों में से सबसे छोटे हैं ! नारद जी ने कठिन तपस्या से ब्रह्मर्षि पद प्राप्त किये हैं ! ऐसा माना जाता है की यें भगवान विष्णु के २४ अवतार में से 2रा अवतार हैं ! तथा वे श्री हारी का अन्यय भक्त में से एक था ! देवर्षि नारद धर्म के प्रचार तथा लोक-कल्याण हेतु सदैव प्रयत्नशील रहा करते थे !

What is Narada Bhakti Sutra

नारद भक्ति दर्शन 84 सूत्रो का रचा एक भक्ति ग्रन्थ है ! इसे महर्षि नारद ने रचा है ! या प्रेम सूत्र के ननाम से भी जाना जाता हाई ! अगर आपको केवल भक्ति का ज्ञान प्राप्त करना है , तो नारद भक्ति सूत्र के सामान सरल और संक्षिप्त कोई अन्य दर्शन शास्त्र नहीं हो साकता है !

इसमें भक्ति का व्याख्या , महता , लक्षण , साधन , भक्ति का स्वरुप , भक्ति के नियम , फल आदि की चर्चा की गयी है !

अन्य भक्ति सूत्रों की तुलना में नारद भक्ति दर्शन पढ़ना आसान है क्योकि इसका भाषा काफी सरल है !

भक्ति के आचार्य , ब्रम्हा के पुत्र और भगवान नारायण के भक्त ऋषि नारद जी ने 84 सूत्रों में भक्ति के विषय पर अपनी बात बहुत ही सरलता से रखी है !

भक्ति पर अमर ऋषि नारद द्वारा बोले गए संक्षिप्त छंदों का एक संग्रह, सर्वोच्च स्व, कृष्ण के साथ हमारा आवश्यक संबंध।
सदियों से, पूर्व और पश्चिम दोनों की उच्च विकसित आत्माओं ने सिखाया है कि हम पूर्ण, शुद्ध और शाश्वत प्रेम तभी प्राप्त कर सकते हैं जब हम ईश्वर से प्रेम करना सीखते हैं ! भक्ति-योग, भक्ति का विज्ञान, हमें यह कला सिखाता है। और वैदिक ऋषि नारद से बड़ा कोई गुरु नहीं है !

नारद-भक्ति-सूत्र के रूप में जाने जाने वाले भक्ति पर नारद के चौरासी रत्न-सूत्र, भगवान के प्रेम के रहस्यों को प्रकट करते हैं – यह क्या है, और क्या नहीं; इसके प्रभाव क्या हैं; रास्ते में हमारी प्रगति में क्या मदद करता है या बाधा डालता है; और भी बहुत कुछ। जीवन के अंतिम लक्ष्य के सच्चे साधक के लिए, नारद-भक्ति-सूत्र आवश्यक है !

नारद-भक्ति-सूत्र के पहले भाग में उनकी दिव्य कृपा ए.सी. भक्तिवेदांत स्वामी प्रभुपाद की टिप्पणी शामिल है, जिसे दुनिया भर के विद्वानों और आध्यात्मिक नेताओं ने भारतीय संस्कृति और आधुनिक युग के दर्शन के सबसे प्रतिष्ठित शिक्षक के रूप में मान्यता दी है ! बाद के भाग को सतस्वरूप दास गोस्वामी, श्रील प्रभुपाद के वरिष्ठ शिष्यों में से एक और भक्ति पर दो दर्जन से अधिक पुस्तकों के लेखक द्वारा समझाया गया है !

नारद भक्ति दर्शन का उदय

वेद में तिन कांड दिया गया है ! 1 कर्मकाण्ड 2 ज्ञानकाण्ड , 3 भक्ति कांड

3 भक्ति कांड के तिन प्रमुख दर्शन है
नारद भक्ति दर्शन का उदय भक्ति कांड से ही हुआ है !
1 नारद भक्ति दर्शन
2 शाण्डिल भक्ति दर्शन
3 देवी मिमंषा दर्शन

Narada Bhakti Sutra Benefits

  • नारद भक्ति दर्शन पद्नने से आपके घर में सुख शांति आएगी !
  • यह मन में उत्पन्न बुरे विचार को खत्म कर देता है !
  • इस ग्रन्थ मी में भक्त मार्ग का पूरा विवरण दिया गया है !
  • इसको पदने से अआपके आयु मर वृद्धि होती है !
  • इसमें लिखे सभी सूत्र आपके लिए लाभदायक सवित होगा !

Download Narada Bhakti Sutra

डिस्क्लेमर :- Hindi gyanकिसी भी प्रकार के पायरेसी को बढ़ावा नही देता है, यह पीडीऍफ़ सिर्फ शिक्षा के उद्देश्य से दिया गया है! पायरेसी करना गैरकानूनी है! अत आप किसी भी किताब को खरीद कर ही पढ़े ! इस लेख को अपने दोस्तों के साथ भी जरुर शेयर करे !