Patanjali Giloy Juice Benefits for Health

आज के समय में आपका सबसे बढ़ा धन स्वास्थ है, और इसे ध्यान रखना आप सभी की जिम्मेदारी है, आज मैं आप सभी के सामने Patanjali Giloy Juice के बारे में बताने वाला हूँ, मैं आपको इसके फायदे और नुकसान दोनों के बारे में बताने वाला हूँ ! और यह किन लोगो को लेना चाहिए और किन लोगो को नही लेना चाहिए, !

Giloy क्या है ?

Giloy

गिलोय एक औषधि है, और सबसे महत्वपूर्ण बात यह है की यह हमारे भारत का राष्ट्रिय औषधि है, आपको भी इसके बारे में ज्यादा पता नही होगा, लेकिन हम आपको इसके बारे में हर चीज बताने वाले है!

भारत सरकार के आयुष विभाग ने तय किया है की इस राष्ट्रिय औषधि को सबके पास पहुचाया जाए और इसके फायदों के बारे में सबको बताया जाए ! यह मुख्य रूप से एक जड़ी बूटी है, इससे दवा और स्वास्थ सम्बन्धित दवाये बनायी जाती है ! यह अपने खास गुणों के वजह से इसे आर्युवेद में इसे गुरुची और अमृता भी कहा जाता है!

इसे होमियोपैथी में भी कुछ खास दवाये तैयार की जाती है! जिससे बहुत सारी बीमारियों का इलाज किया जाता है, जैसे डायबिटीज, अस्थमा, जैसी बीमारियों का इलाज किया जाता है!

इसका वर्णन हमे पुराणों में भी मिलता है, माना जाता है की लंका में भगवान् राम और रावण के युद्ध के दौरान भगवान् राम के सेना के कई वानर मारे गये थे, जिन्हें जीवित करने के लिए अमृत वर्षा का आवाहन किया था! जब अमृत वर्षा हुयी तो सारे वानर जाग आये, और ऐसा माना जाता है की जहा पर अमृत वर्षा हुयी वहा पर गिलोय के पौधे उग आये !

अगर हम इन सभी पौराणिक कथाओ को एक तरफ रख देते है तो भी गिलोय के पौधे किसी अमृत से कम नही है! गिलोय को गुणों का भंडार भी कहा जाता है!

Giloy Juice की सेवन विधि

Giloy in hindi

इसका सेवन विधि बहुत ही आसान है, गिलोय को एक व्यस्क व्यक्ति को एक दिन में सिर्फ 1 ग्राम मात्रा का सेवन करना चाहिए ! अगर आप इससे ज्यादा मात्रा में इसका सेवन करते है तो यह आपके लिए नुकसान दायक हो सकता है! Thermal Scanner क्या है और कैसे काम करती है?

छोटे बच्चो को इसका सेवन नही करना चाहिए, जैसे बहुत छोटे जो 5 वर्ष से कम उम्र या नवजात शिशु को भूल कर भी इसका सेवन नही करना चाहिए ! 5 वर्ष उसे ऊपर के बच्चो को 250 मिलीग्राम से ज्यादा का सेवन नही करना चाहिए !

गिलोय को आप पाउडर , जूस या फिर कैप्सूल के रूप में ले सकते है, लेकिन इसे पाउडर के रूप में लेना सबसे ज्यादा फायदेमंद होता है! 7 secrets of shiva PDF Download

Benefits of Giloy

गिलोय के सेवन से आपको बहुत सारे फायदे होते है, अगर आप इसका सेवन नियमानुसार करते है, तो आप हमेशा स्वस्थ रहते है, यह बहुत सारे बीमारियों में इस्तमाल किया जाता है, बहुत सारे लोग इसका सेवन करते है, और बाबा रामदेव भी हमेशा लोगो को इसके सेवन की विधि और फायदे बताते रहते है, और वे खुद भी इसका सेवन करते है!

  • डायबिटीज (Diabetes) :- गिलोय जूस (giloy juice) ब्लड शुगर के बढे स्तर को कम करती है, इन्सुलिन का स्राव बढ़ाती है और इन्सुलिन रेजिस्टेंस को कम करती है। इस तरह यह डायबिटीज के मरीजों के लिए बहुत उपयोगी औषधि है।
  • डेंगू (Dengue):- डेंगू में मरीज को काफी तेज बुखार होता है, और उनके प्लेटलेट्स काफी तेजी से घटते है, जिससे आपके शरीर को काफी ज्यादा नुकसान होता है, ऐसे में गिलोय जूस (Giloy Juice) का सेवन करने से उनके प्लेटलेट्स बहुत से तेजी से बढ़ते है और उन्हें डेंगू में बहुत ज्यादा फायदा करता है !
  • अपच (Indigestion):- अगर आपको कब्ज और एसिडिट की शिकायत रहती है तो इसके सेवन से आपकी यह बीमारी दूर हो सकती है, इसे आप सुबह से शाम में इसका जूस का सेवन कर सकते है!
  • खांसी (Cough):- अगर कई दिनों से आपकी खांसी ठीक नहीं हो रही है तो गिलोय (Giloy) का सेवन करना फायदेमंद हो सकता है। गिलोय में एंटीएलर्जिक गुण होने के कारण यह खांसी से जल्दी आराम दिलाती है। खांसी दूर करने के लिए गिलोय के काढ़े का सेवन करें।
  • बुखार (Fever) :- गिलोय या गुडूची (Guduchi) में ऐसे एंटीपायरेटिक गुण होते हैं जो पुराने से पुराने बुखार को भी ठीक कर देती है। इसी वजह से मलेरिया, डेंगू और स्वाइन फ्लू जैसे गंभीर रोगों में होने वाले बुखार से आराम दिलाने के लिए गिलोय (Giloy in hindi) के सेवन की सलाह दी जाती है।
  • इम्युनिटी बढ़ाने में सहायक :- बीमारियों को दूर करने के अलावा शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढाता है! इसके नियमित सेवन शरीर की इम्युनिटी पॉवर को बढ़ता है जिससे सर्दी-जुकाम समेत कई तरह की संक्रामक बीमारियों से बचाव होता है।
  • पीलिया :- पीलिया के मरीजों को गिलोय के ताजे पत्तों का रस पिलाने से पीलिया जल्दी ठीक होता है।
  • एनीमिया :- शरीर में खून की कमी होने से कई तरह के रोग होने लगते हैं जिनमें एनीमिया सबसे प्रमुख है। आमतौर पर महिलायें एनीमिया से ज्यादा पीड़ित रहती हैं। एनीमिया से पीड़ित महिलाओं के लिए गिलोय का रस काफी फायदेमंद है। गिलोय का रस (Giloy juice) का सेवन शरीर में खून की कमी को दूर करती है और इम्युनिटी क्षमता को मजबूत बनाती है।
  • त्वचा के लिए गुणकारी :- गिलोय त्वचा संबंधी रोगों और एलर्जी को दूर करने में भी सहायक है। अर्टिकेरिया में त्वचा पर होने वाले चकत्ते हों या चेहरे पर निकलने वाले कील मुंहासे, गिलोय इन सबको ठीक करने में मदद करती है।  
  • गठिया :- गिलोय में एंटी-आर्थराइटिक गुण होते हैं। इन्हीं गुणों के कारण गिलोय (Giloy in hindi) गठिया से आराम दिलाने में कारगर होती है। खासतौर पर जो लोग जोड़ों के दर्द से परेशान रहते हैं उनके लिए गिलोय का सेवन करना काफी फायदेमंद रहता है। 
  • अस्थमा :- गिलोय में एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण होने के कारण यह सांसो से संबंधित रोगों से आराम दिलाने में प्रभावशाली है। गिलोय या गुडूची (Guduchi) कफ को नियंत्रित करती है साथ ही साथ इम्युनिटी पॉवर को बढ़ाती है जिससे अस्थमा और खांसी जैसे रोगों से बचाव होता है और फेफड़े स्वस्थ रहते हैं। 
  • लीवर के लिए फायदेमंद :- अधिक शराब का सेवन लीवर को कई तरीकों से नुकसान पहुंचाता है। ऐसे में गुडूची सत्व या गिलोय सत्व का सेवन लीवर के लिए टॉनिक की तरह काम करती है। यह खून को साफ़ करती है और एंटीऑक्सीडेंट एंजाइम का स्तर बढ़ाती है। इस तरह यह लीवर के कार्यभार को कम करती है और लीवर को स्वस्थ रखती है। गिलोय के नियमित सेवन से लीवर संबंधी गंभीर रोगों से बचाव होता है।

Note :- आप किसी भी प्रकार के दवा यह औषधि का सेवन अपने डॉक्टर के सलाह के अनुसार ही करे! अन्यथा इससे आपके स्वास्थ की नुकसान पंहुचा सकता है, इसके लिए HindiGyan.in की भी प्रकार से उत्तरदायी नही होगा !

Leave a Comment