PM KUSUM YOJANA | HOW TO APPLY, BENEFITS, Subsidy Full Details

PM KUSUM YOJANA 2022 : प्रधामंत्री कुसुम योजना भारत सरकार के द्वारा शुरू किया गया एक योजना है, यह किसानो के लिए शुरू किया गया एक योजना है, इसमें किसान की ऊर्जा सुरक्षा, एवम् उत्थान महाभियान, सौर ऊर्जा से सिचाई और अतिरक्त कमाई के लिए लाया गया है !

प्रधानमन्त्री कुसुम योजना का मूल उद्देश्य किसानो को सौर से चालित मोटर पम्प को उपलब्ध कराना है ताकि सिचाई व्यवस्था को और सरल और सस्ता किया जा सके ! इस योजना के तहत किसानो के लिए तीन तरह से सहायता की जायेगी ! जिसका नाम कुसुम अ , कुसम ब और कुसुम स दिया गया है!

What is Pradhan Mantri Kusum Yojana in Hindi

यह किसानो के सहायता के लिए केंद्र सरकार के तरफ से लाया गया एक योजना है, जिसमे किसानो को खेतो की सिचाई के लिए सहायता और अतिरिक कमाई का मौक़ा दे रही है, इसमें आप अपने खेत में सौर ऊर्जा से चालित मोटर पम्प सरकार के सहायता से लगवा सकते है!

इस योजना में सरकार ने किसानो को पूरी तरह से मदद करने की कोशिश की है, इसे सरकार ने तीन भागो में बाँट दिया है! जो कुछ इस प्रकार से है!

PM Kusum Yojana A– इस योजना के तहत वैसे किसानो को लाभ होने वाला है, जिस किसान की भूमि बंजर है और उसमे किसी भी प्रकार के अन्न को उपजा नही पा रहे है ऐसे में किसान अपने खेत से कुछ भी कमाई नही कर पाता है लेकिन वो इस योजना के मदद से अपने खेत से कुछ अतिरिक्त कमाई कर सकता है! तथा इसमें सौर ऊर्जा से उत्पन्न बिजली को 25 साल तक (DISCOM) कम्पनी को बेचने की सुविधा भी दी जा रही है !

PM Kusum Yojana B – इस योजना के तहत किसानो को डीजल पम्प के जगह सोलर पम्प लगाने के लिए प्रेरित किया जा रहा है! इससे किसानो के आय में वृद्धि और पैसे की बचत होंगी ! इसमें किसान को सोलर पम्प लगाने के लिए 60 % सब्सिडी, और शेष राशि पर उन्हें सस्ता ऋण भी दिया जा रहा है !

हर साल लगभग किसान की डीजल के ऊपर 50 हजार रूपये की बचत और यहाँ पर 5 से 6 साल वर्ष समय आपको ऋण को चुकाने के लिए मिलता है!

➤ PM Kusum Yojana C – इस योजना के तहत दिन के समय किसान भाइयो को कृषि कार्य के लिए पर्याप्त बिजली की सप्लाई! सस्ती और हरित उर्जा से खेतो में हरियाली और किसानो में खुशहाली !

What is the Full Name of PM KUSUM YOJANA

PM KUSUM YOJANA

इस योजना का पूरा नाम Pradhan Mantri Kisan Urja Suraksha Evam Utthan Mahabhiyan (PM-KUSUM) Scheme. है! यह Ministry of New and Renewable Energy (MNRE) मंत्रालय के तहत आता है!

योजना का नामप्रधानमंत्री कुसुम योजना 2022
योजना शुरू होने की तिथिMarch 2019
संचालन केंद्र सरकार के द्वारा
योजना का उदेश्य कम लागत में सौर चालित सिचाई पंप उपलब्ध कराना
लाभार्थी राज्य का किसान
आधिकारिक वेबसाइटhttps://mnre.gov.in/

Features of PM KUSUM Scheme in Hindi

जब भी कोई योजना की शुरुआत की जाती है तब उस योजना के कुछ लक्ष्य तय किये है और उसके अनुसार ही काम किये जाते है, और जब यह कुसुम योजना को लांच किया गया था तब भी कुछ लक्ष्य तय किये गये थे जिसे 2022 तक पूरा करना है!

  • इस योजना के तहत किसानो को कुल 27.5 लाख सोलर वाटर पंप बाटने थे!
  • इसमें से 17.5 लाख ऐसे सोलर पम्प बाटने थे , जहाँ पर किसान डीजल इंजन के मदद से सिचाई करते थे, जहाँ पर बिजली की कोई सुविधा उपलब्ध नही है, वैसे जगहों पर पूर्ण रूप से सोलर चालित पम्प बाटने है!
  • जिन किसानो के पास सोलर से चालित पम्प लगाने के बाद और सिचाई के समय में सिचाई करने की सुविधा तो उपलब्ध हो ही गयी है, लेकिन जब सोलर से सिचाई नही हो रही होगी तब सोलर से बनने वाली बिजली को किसान सरकार को या किसी भी कम्पनी को बेच कर अतिरिक्त कमाई भी कर सकता है! इसमें किसानो को DISCOM कम्पनी की ये उर्जा बेचना है ! इससे किसान को एक एकड़ में लगभग 60 हजार रूपये की अतिरिक कमाई होगी !
  • 10 लाख सोलर पंप को ऐसे जगह लगाने थे, जहां पर पॉवर यानी इलेक्ट्रिसिटी की सुविधा उपलब्ध है , उस जगह पर लगाने है, इससे किसान बिजली में लगने वाले पैसे की बचत कर सकता है!

Benefits of PM KUSUM Scheme

प्रधानमंत्री कुसुम योजना के लांच होने के किसानो और सरकार को बहुत सारे फायदे होने वाले है! इस योजना से दो तरफ़ा लाभ होने वाले है, इसके सबसे ज्यादा किसानो को राहत मिलने वाली है, इस योजना से किसानो के पैदावार में वृद्धि होने साथ साथ कुछ अतिरिक्त कमाई का भी मौका मिल रहा है!

  • इसमें सबसे बड़ा फायदा यह है की जहां पर बिजली की सुविधा उपलब्ध नही है, वहां पर आप सोलर पंप लगाकर आपने खेतो की सिचाई समय समय पर करके फसल की पैदावार को बढ़ा सकते है!
  • सिचाई का मौसम ना होने पर सोलर से बिजली उत्पन्न करके DISCOM कम्पनी को बेचकर भी पैसे कमा सकते है, इससे आपको सालो फायदा मिलने वाला है!
  • सोलर पंप लगवाने पर सरकार की तरफ से किसानो को सब्सिडी भी उपलब्ध कराई जा रही है और बचे हुए पैसे पर ऋण की भी सुविधा उपलब्ध है, यानी किसान के पास अगर १ भी रुपया नही है तो भी वह सोलर पंप को लगा सकता है!
  • इस योजना से लगभग 27.5 लाख परिवारों को डायरेक्ट फायदा पहुचने वाला है, इसमें से बहुत सारे पंप को लगाया जा चूका है! इसे योजना के अंतगर्त बढाया भी गया है! अब यह लक्ष्य 35 लाख के आस पास पहुच गयी है!
  • इस योजना का लक्ष्य 2022 तक 25750 MW मेगावाट बिजली की बचत करना है! इससे इस बिजली का उपयोग कहीं और भी किया जा सकता है! यानी हम इन सभी सोलर से इतना ऊर्जा बनाने वाले है!
  • इस योजना में केंद्र सरकार के तरफ से 34422 करोड़ रूपये का फण्ड दिया गया है!
  • सरकार किसान के खाली पड़े बंजर जमीन पर किसान के मदद से 2 मेगावाट के बहुत सारे सोलर पैनल लगाने वाली है और 10 हजार मेगावाट बिजली पैदा करने का लक्ष्य रखा है!
  • इस योजना में आपको लगभग 60 से 90 प्रतिशत तक की सब्सिडी मिलती है!

How to Apply PM KUSUM YOJANA

PM KUSUM YOJANA 2022 में ऑनलाइन कैसे अप्लाई करना है, मैंने आपको उसके बारे में आपको सब कुछ इस आर्टिकल में बताने वाला हूँ! इसके लिए आपके पास कुछ महत्वपूर्ण दस्तावेज और कुछ योग्यता का होना बहुत ही जरुरी है तभी आप इस योजना का लाभ ले सकते है!

इस फॉर्म को अप्लाई करने के लिए आप सभी दस्तावेज को एक जगह एकत्रित कर ले और अपने योग्यता को जांच ले उसके बाद आप अपने नजदीक Cyber Cafe में जाकर Online Apply कर सकते है, या फिर इसे अपने ब्लाक में जाकर ऑफलाइन अप्लाई कर सकते है! आपको यह पता करना होगा की आपके राज्य में यह फॉर्म ऑनलाइन हो रहा है या इस फॉर्म को ऑफलाइन भरा जा रहा है! इसे आप अपने ब्लाक से जाकर पता कर सकते है !

कुसम योजना महत्वपूर्ण दस्तावेज | Important Document for KUSUM YOJANA

इस फॉर्म को आप ऑनलाइन या ऑफलाइन अप्लाई करते है तो भी आपके पास ये सभी दस्तावेज का होना बहुत जरुरी होता है!

  • आधार कार्ड
  • राशन कार्ड
  • रजिस्ट्रेशन की कॉपी
  • प्राधिकार पत्र (authorization letter)
  • जमीन की जमाबंदी कॉपी
  • चार्टेड अकाउंटेंट द्वारा जारी नेटवर्थ सर्टिफिकेट
  • मोबाइल नंबर
  • बैंक खाता विवरण
  • पासपोर्ट साइज़ फोटोग्राफ

KUSUM YOJANA की पात्रता

  • आवेदक भारत का स्थायी निवासी होना चाहिए!
  • कुसुम योजना के अंतगर्त किसान सिर्फ 0.5 मेगावाट से 2 मेगावाट क्षमता तक के सौर ऊर्जा सयंत्र के लिए आवेदन दे सकता है !
  • आवेदक द्वारा अपनी भूमि के अनुपात में 2 मेगावाट क्षमता या फिर बितरण निगम द्वारा अधिसुची क्षमता के लिए आवेदन कर सकता है!
  • प्रति मेगावाट एक लिए लगभग 2 हेक्टेयर भूमि की आवश्यकता होगी !
  • इस योजना के अंतगर्त स्वय के निवेश से प्रोजेक्ट के लिए किसी भी प्रकार की वितीय योग्यता की आवश्यकता नही है!
  • यदि आवेदक द्वारा किसी विकासकर्ता के माध्यम से प्रोजेक्ट विकसित किया जा रहा है तो विकासकर्ता की नेटवर्थ 1 करोड़ रूपये प्रति मेगावाट होनी अनिवार्य है!

Student Credit Card online Resistration

Pradhan Mantri Kusum Yojana Online Application Form

यह योजना अभी सभी राज्यों में शुरू नही किया गया है! यह प्रधानमंत्री कुसुम योजना अभी चार से पांच राज्यों में शुरू किया गया है! उसका ऑफिसियल वेबसाइट में नीचे दिया गया है! जिससे आप ऑनलाइन अप्लाई कर सकते है!

राज्य का नामरजिस्ट्रेशन फॉर्म लिंक
राजस्थानयहां क्लिक करें
मध्य प्रदेशयहां क्लिक करें
हरियाणायहां क्लिक करें
पंजाबयहां क्लिक करें
उत्तर प्रदेशयहां क्लिक करें
बिहार यहाँ क्लीक करे

आप अगर राजस्थान, मध्यप्रदेश, हरियाणा, पंजाब, और उत्तरप्रदेश के स्थायी निवासी है तो आप इस फॉर्म को ऑनलाइन अप्लाई कर सकते है! क्योकि इन राज्यों में यह सुविधा शुरू कर दी गयी है, धीरे – धीरे यह सभी राज्यों में शुरू किया जायेगा!

How to Apply KUSUM YOJNA Form in Bihar

अगर आप बिहार राज्य के निवासी है आप बिहार राज्य के Bihar Renewable Energy Development Agency के ऑफिसियल वेबसाइट से जाकर इस फॉर्म को ऑनलाइन अप्लाई कर सकते है!

इसके लिए आपके इसके पात्रता को पूरा करते है या नही करते है सबसे पहले आपको वह देख लेना है! अगर आप बिहार में इस फॉर्म को अप्लाई कर रहे है तो आप पहले इस योग्यता को जांच ले!

  • ऑन लाइन आवेदन करने के पूर्व कृपया सुनिश्चित हो लें कि ब्रेडा का सदस्य बनने के लिए आप निम्नांकित अहर्ताएँ पूरी करतें हों एवं आवश्यक कागजात (आवासीय प्रमाण पत्र , पहचान पत्र) आपके पास उपलब्ध है !
  • कुल 3300 सोलर वाटर पम्प (1650 2HP + 1650 3HP) का 22.5% अनुसूचित जाति/ अनुसूचित जनजाति के लिए आरक्षित है। इस हेतु सक्षम अधिकारी द्वारा निर्गत जाति प्रमाण पत्र की Scan Copy(Pdf File) में अपलोड करना अनिवार्य है।
  • सोलर वाटर पम्प का बोरिंग 2 HP के लिए न्यूनतम 4 ईंच व्यास एवं 3 HP के लिए न्यूनतम 6 ईंच व्यास होना अनिवार्य है। जिसकी व्यवस्था लाभार्थी को स्वयं करनी होगी!
  • यदि किसी भी लाभार्थी के द्वारा पूर्व में ब्रेडा द्वारा आवंटित सोलर वाटर पम्प प्राप्त किया गया है तो वे इस योजना के लाभ के पात्र नहीं होंगे !
  • ब्रेडा निविदानुसार सोलर वाटर पम्प की कुल लागत 2HP का 2,05,800 रू0 तथा 3HP का 2,69,850 रू0 निर्धारित है , जिसको लाभार्थी अंशदान 25 % की दर से 2 HP का 51,450 रू0 तथा 3HP के लिए 67,463 रू0 देय होगा।
  • लघु/सीमान्त श्रेणी (न्यूनतम 1 एकड़ से अधिकतम 5 एकड़ तक ) के किसान खेत के सिंचाई कार्य के लिए इस योजना के पात्र होगें 
  • सक्षम अधिकारी द्वारा निर्गत L.P.C (भूमि के सम्बन्ध में) Scan Copy pdf में अपलोड करना होगा
  • योजना के लिए लाभार्थी का Bank Account Details, Adhar Card No. देना अनिवार्य है
  • Photo,Signature पहचान पत्र का Scan copy upload करना अनिवार्य है !
  • चालान बनने के उपरांत 10 कार्यरत दिनों के अन्दर निर्धारित लाभार्थी अंशदान की राशि जमा करना सुनिश्चित करें अन्यथा आपका आवेदन रद्‌द कर दिया जाएगा

इन पात्रता को आप पूरा करते है तो आप इसके ऑफिसियल साईट पर जाकर Apply Now के Button पर क्लीक करके फॉर्म को सही सही भर कर सबमिट कर दीजिये !

बाकी के राज्य के भी ऑनलाइन फॉर्म इसी प्रकार से भरा जायेगा, आपको उसके आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर ऑनलाइन अप्लाई करना है!

कुसुम योजना फ्रॉड से बचे

आजकल प्रधानमंत्री कुसुम योजना के आड़ में बहुत बड़ा फ्रॉड चल रहा है! इसमें किसान भाइयो के पैसे लेकर ठगी किया जा रहा है ! इसमें हुबहू कुसुम योजना के जैसे बहुत सारे ऑनलाइन वेबसाइट बना दिया जा रहा है और आपसे ऑनलाइन पेमेंट करवा लिया जा रहा है!

इस तरह के बहुत सारे वेबसाइट चल रही है! जिससे फर्जीवाड़ा किया जा रहा है, इसलिए आप जब भी फॉर्म भरे तब यह जरुर सुनिश्चित कर ले की वह उस राज्य की अधिकारिक वेबसाइट है या नही है!

 प्रधानमंत्री  कुसुम योजना

अगर आपको भी इस तरह के कोई वेबसाइट मिलती है तो टोल फ्री नंबर  1800-180-3333 पर डायल करके उसकी सुचना जरुर दे ! इसे फर्जीवाड़ा रोकने में आप सरकार की मदद कर सकते है!

प्रधानमंत्री कुसुम योजना 2022 से सम्बन्धित प्रश्न और उनके उत्तर

किसान कुसुम योजना क्या है?

केंद्र सरकार ने साल 2019 में प्रधानमंत्री कुसुम योजना की शुरुआत की थी। यह योजना नवीन एवं नवीकरणीय ऊर्जा मंत्रालय की तरफ से चलाई जा रही है। इस योजना के तहत केंद्र सरकार की ओर से 60 फीसदी और राज्य सरकार की तरफ से 30 फीसदी सब्सिडी मुहैया कराई जाती है। कुल मिलाकर किसानों सोलर पंप लगाने के लिए 90 फीसदी सब्सिडी मिल जाती है

प्रधानमंत्री कुसुम योजना का लाभ कैसे उठाएं?

प्रधानमंत्री कुसुम योजना का लाभ लेने के लिए किसानों कुछ डॉक्यूमेंट्स जमा करना पड़ता है। किसानों को अपना आधार कार्ड, राशन कार्ड, आधार से लिंक मोबाइल नंबर, बैंक पासबुक की कॉपी, पासपोर्ट साइज फोटो और किसानों को अपनी खेती से जुड़े डाक्यूमेंट्स की जरूरत पड़ेगी !

कुसुम योजना में कितना खर्चा आता है?

केंद्र सरकार द्वारा निर्धारित बजट के हिसाब से कुसुम योजना पर कुल 1.40 लाख करोड़ रुपये की लागत आएगी. कुसुम योजना पर आने वाले कुल खर्च में से केंद्र सरकार 48 हजार करोड़ रुपये का योगदान करेगी, जबकि इतनी ही राशि राज्य सरकार देगी. किसानों को कुसुम योजना के तहत सोलर पंप की कुल लागत का सिर्फ 10 फीसदी खर्च ही उठाना होगा, बाकी 90 % आपको सब्सिडी मिल जाती है!

सौर ऊर्जा जल पंप क्या है?

सौर जल पंप एक ऐसा उपकरण है जो प्रत्यक्ष वर्तमान पानी को पंप करने में सक्षम है और यह सौर ऊर्जा के माध्यम से काम करता है। कई प्रकार के सौर पंप हैं, जिनमें सौर फोटोवोल्टिक, सौर तापीय जल पंप और घरेलू गर्म पानी पंप शामिल हैं। ये वॉटर पंप सबमर्सिबल हैं और सूर्य से ऊर्जा द्वारा संचालित होते हैं।

Leave a Comment