Pushya Nakshatra Characteristics, Deepest, Secrets

Pushya Nakshatra पूरी तरह से कर्क राशि में पड़ता है और थीटा-कैनक्री, गामा-कैनक्री और एटा-कैनरी का संयोजन है ! Pushya Nakshatra का प्रतीक, गाय का थन, शाब्दिक अनुवाद का प्रतिनिधित्व करता है – पोषण या पोषण ! गाय हिंदू धर्म में सबसे शुभ प्राणी है ! यह उर्वरता और उत्पादकता का प्रतीक है ! इसलिए कहा जाता है कि पुष्य नक्षत्र के जातक उत्पादक, खुशमिजाज, उच्च सम्मानित, स्थिर दिमाग वाले और अच्छे दिखने वाले होते हैं !

Pushya Nakshatra
Pushya Nakshatra

Pushya Nakshatra

  • प्रतीक- पहिया
  • शासक ग्रह- शनि
  • लिंग पुरुष
  • गण- देव
  • गुना- रजस/सत्व/तमस
  • पीठासीन देवता- बृहस्पति
  • पशु- राम
  • भारतीय राशि- 3°20′ -16°40′ कारक

इसके प्रभाव में लोग बहुत धार्मिक होते हैं और अपने विश्वासों और कानूनों को बहुत महत्व देते हैं ! उनका मानना ​​​​है कि वे हमेशा सही होते हैं और उन लोगों के प्रति अहंकारी होते हैं जो उनसे असहमत होते हैं ! वे जरूरतमंद लोगों के प्रति दयालु और मददगार होते हैं और साझा करने में अच्छे होते हैं !

Characteristics of people born under Pushya Nakshatra

पुष्य के शासक देवता बृहस्पति (बृहस्पति का एक पहलू) हैं, जो परोपकार के गुण प्रदान करते हैं ! सत्तारूढ़ ग्रह शनि प्रतिबद्धता और व्यावहारिकता के लक्षणों में जोड़ता है !

पुष्य नक्षत्र के तहत पैदा हुए लोगों में परिवार, घर और समुदाय की एक शक्तिशाली भावना होती है ! वे उत्कृष्ट भोजन और एक महान सामाजिक जीवन के प्रति भी लगाव रखते हैं ! जीवन के प्रति एक संतुलित दृष्टिकोण वह है जिस पर पुष्यन अपने जीवन में रिसने वाली कठोरता से बचने के लिए भरोसा करते हैं !

पुष्य आध्यात्मिक गतिविधियों के लिए सबसे अनुकूल नक्षत्र है ! जातक भरोसेमंद, उदार, शांत और सुरक्षात्मक होते हैं !

Physical Characteristics

  • मध्यम रंग,
  • अच्छी तरह से आनुपातिक शरीर
  • संरचित चेहरा
  • सुंदर
  • चेहरे पर एक अलग निशान या तिल

Behavioral Traits

  • उनके कई सकारात्मक लक्षणों में से हैं
  • अंतर्ज्ञान और बुद्धि उनके पास स्वाभाविक रूप से आती है !
  • जातक भावुक, रचनात्मक और निस्वार्थ होते हैं
  • उनके मानवीय आदर्श और परोपकार एक और पहलू है जो उन्हें सामाजिक हलकों में लोकप्रिय बनाता है !
  • जनहित के लिए तहे दिल से लड़ना और अपने विश्वास प्रणाली के साथ खड़ा होना उनके दिल के करीब है !
  • वे अच्छे पालनहार हैं !
  • पुष्य के तहत पैदा हुए लोग स्वतंत्र होते हैं और वित्तीय विशेषज्ञ होते हैं !
  • शांति और धार्मिक गुण भी उनके सकारात्मक लक्षणों के रूप में गिने जाते हैं !
  • वे नकारात्मक लक्षणों के बिना नहीं हैं !
  • रूढ़िवादी और संकीर्ण सोच होना प्रमुख नकारात्मक लक्षण हैं !
  • वे स्वामित्व वाले होते हैं, जिससे उनके साथी और दोस्त असहज हो जाते हैं !
  • जातक जिद्दी, जिद्दी और घमंडी होते हैं !
  • अति संवेदनशील होने के कारण छोटी-छोटी बातें भी उन्हें आसानी से परेशान कर सकती हैं !
  • अत्यधिक बातूनी, वे अपने सिर के ऊपर से चढ़ जाते हैं !
  • धोखा देना आसान है, उनमें आत्म-मूल्य की भी कमी है !

Compatibility

नर भेड़ इसके योनि प्रतीक होने के कारण, पुष्य नक्षत्र के तहत पैदा हुए लोग कृतिका नक्षत्र के साथ सबसे अधिक संगत होते हैं- इसके स्त्री समकक्ष ! अन्य सितारे जो संगत हैं वे हस्त और स्वाति नक्षत्र हैं !
हालांकि, चित्रा, धनिष्ठा, विशाखा और पूर्व भाद्रपद जैसे जन्म सितारे पुष्य नक्षत्र के अनुकूल नहीं हैं !

Man’s Characteristics

पुष्य नक्षत्र के जातक संवेदनशील और भावनात्मक रूप से कमजोर होते हैं ! वह कभी भी कठोर निर्णय नहीं ले सकता और हमेशा चीजों को संतुलित करने के लिए ग्रे क्षेत्रों को खोजने की कोशिश करेगा !

वह उम्मीद करता है कि हर कोई उसका सम्मान करेगा और उसकी प्रशंसा करेगा ! प्रशंसा जहां अहंकार को बढ़ाती है, वहीं आलोचना उसे दुख की ओर धकेलती है ! उसे अपनी कंपनी से सावधान रहना चाहिए क्योंकि बुरी आदतों को बनाने के लिए उसे जल्दी से प्रभावित किया जा सकता है !

कठिनाइयों को दूर करने के लिए उनकी दृढ़ इच्छा-शक्ति और समर्पण उनके लिए एक बार लक्ष्य तक पहुंचने में आसान बनाता है ! 15 साल की उम्र तक उनका स्वास्थ्य अस्थिर रहेगा, जिसके बाद उन्हें स्वास्थ्य संबंधी थोड़ी परेशानी होगी !

Woman’s Characteristics

पुष्य के तहत पैदा हुई महिलाओं को शायद ही कभी शांति का अनुभव होता है ! हालाँकि वह हमेशा अच्छा चाहती है और सभी के साथ रहना पसंद करती है, लेकिन उसके विनम्र स्वभाव ने उसे दुर्व्यवहार का आसान लक्ष्य बना दिया है ! धार्मिक होने के कारण, वह अपने द्वारा बताई गई हर बात का कर्तव्यपूर्वक पालन करेगी !

उसे पहले खुद के साथ ईमानदार होना सीखना होगा, और बाद में उसके सारे रिश्ते सही हो जाते हैं ! काम के मोर्चे पर, अगर वह एक पेशेवर बनने का फैसला करती है, तो उसके प्रमुख पदों पर पहुंचने की संभावना है ! 20 साल की होने तक उसका स्वास्थ्य अस्थिर रहता है !

आपकी कुंडली में क्या है, जानने के लिए आज ही हमारे ज्योतिषियों से सलाह लें ! वे आपका मार्गदर्शन करने में सक्षम होंगे और आपको बेहतर जीवन जीने में मदद करेंगे ! आखिरकार, आगे के मोड़ के लिए तैयारी करना एक संतोषजनक जीवन अनुभव जीने का सबसे अच्छा तरीका है !

Download Pushya Nakshatra

डिस्क्लेमर :- Hindi gyanकिसी भी प्रकार के पायरेसी को बढ़ावा नही देता है, यह पीडीऍफ़ सिर्फ शिक्षा के उद्देश्य से दिया गया है! पायरेसी करना गैरकानूनी है ! अत आप किसी भी किताब को खरीद कर ही पढ़े ! इस लेख को अपने दोस्तों के साथ भी जरुर शेयर करे !