Ram Raksha Stotra Pdf Download in Hindi

भगवान शिव द्वारा प्रेरित और वुद्ध कौशिक द्वारा रचित यह स्तोत्र प्रभु श्री राम के उतम चरित्र का अलौकिक वर्णन किया गया है ! Ram Raksha Stotra भक्तो के हमेशा रक्षा करता है और हर एक मनोकामना को पूर्ण करता है ! आज मै इस लेख में आप्गोलो को Ram Raksha Stotra का हिंदी अनुवाद बताने वाले हैं !

विनियोग

इस राम स्तोत्र के रचनाकार बुद्ध कौशिक ऋषि हैं , सीता और श्री राम चन्द्र देवता हैं ! अनियुक्त छंद है , सीता शक्ति है हनुमान सेवक है ! तथा राम चन्द्र जी क्र ख़ुशी के के लिए राम रक्षा स्तोत्र के लिए विनियोग किया जाता है !

ध्यान

जो धनुष वां धारण किये हुए हैं , वद्द पद्माशन के तरह विद्मन हैं ! और पिताम्वर पहने हुए हैं , जिनके अलौकिक नेत्र है नये कमल दल की तरह जैसा स्पर्धा करते हैं , जो वाम भाग्य में स्थित सीता जी के मुख्य कमल में मिले हुए है ! विभ्भिन्न अलंकारो से विभोजित तथा जटा धरी श्री राम चन्द्र जी का ध्यान करता हूँ !

What is Ram Raksha Stotra ?

प्रभु श्री राम का एक श्तोत्र है राम रक्षा स्तोत्र जिसे पढ़ने मात्र से ही जन जीवन का कल्याण हो सकता है , हम लोग इसके बारे में जानते नहीं हैं हम लोगों ने इसके बारे में आम सुना नहीं है परंतु यह एक चमत्कारी राम रक्षा स्तोत्र है ! इसको अगर आप पढ़ेंगे आपके जीवन में वह बदलाव आ सकते हैं , जो आपने सोचा भी नहीं होंगे !

तो मैं आज आपको राम रक्षा स्तोत्र का अर्थ बताऊंगा और इसे हम आज हिंदी में करेंगे क्योंकि हिंदी में आप लोग सब किसको समझ पाएंगे इसके अर्थ के बारे में जान पाएंगे इसकी महिमा के बारे में जान पाएंगे !

Ram Raksha Stotra in Hindi

श्री रघुनाथ जी का चरित्र जो करोड़ विस्तार वाला है ,उसका एक एक अक्षर महापापो को नष्ट करने वाला है, नील कमल के श्याम वर्ण वाले कमल नेत्र वाले जटायु के मुकुट से सुशोभित जानकी तथा लक्ष्मण सहित ऐसे भगवान श्री राम का स्मरण करके, जो अजन्मा एवं सर्वव्यापक हाथों में खड़क तो नीर धनुष बान धारण किए राक्षसों के संहार तथा अपनी लीलाओं से जगत रक्षा हेतु श्री राम का स्मरण करके मैं सर्व कांप्रद और पापों को नष्ट करने वाले राम रक्षा स्तोत्र का पाठ करता हूं !
राघव मेरे सिर की और दशरथ के पुत्र मेरे लाड की रक्षा करें ,कोशल्या नंदन मेरे नेत्रों की विश्वामित्र के प्रिय मेरे कानों की ,यग्य के रक्षक मेरे ध्यान की और सुमित्रा के भजन मेरे मुख की रक्षा करें !
मेरी जीवा की विद्यानिधि रक्षा करें ,कंठ की भरत ,वंदित कंधों की दिव्य युद्ध और भुजाओं की महादेव जी का धनुष तोड़ने वाले भगवान श्री राम रक्षा करें, मेरे हाथों सीता पति श्री राम रक्षा करें ,ह्रदय की जमदग्नि ऋषि के पुत्र को जीतने वाले मध्य भाग की घर के वध करता और ना थी कि जहां भगवान के आश्रित आता रक्षा करें !
कमर के सुग्रीव के स्वामी, हड्डियों की हनुमान के प्रभु और रानू की राक्षस कुल का विनाश करने वाली रघु श्रेष्ठ रक्षा करें !मेरे जानू ओके सेतु कृत्य , जन्घो के दशानन वध करता चरणों ,चरणों की विभीषण को ऐश्वर्य प्रदान करने वाले और संपूर्ण शरीर की श्री राम रक्षा करें !

  • शुभ कार्य करने वाला जो भक्त भक्ति एवं श्रद्धा के साथ रामफल से संयुक्त होकर स्तोत्र का पाठ करता है ! वह दीर्घायु सुखी पुत्र वान विजई और विनय शील हो जाता है ,जो जीव पाताल पृथ्वी और आकाश में बिछड़ते रहते हैं ,अथवा देश में घूमते रहते हैं वे राम नाम उसे सुरक्षित मनुष्य को देखती नहीं पाते हैं !
  • राम भद्र तथा रामचंद्र आदि नामों का स्मरण करने वाला राम भक्त पापों से लेफ्ट नहीं होता इतना ही नहीं होता , वे अवश्य ही भोग और मोक्ष दोनों को प्राप्त करता है ! जो संसार पर विजय करने वाले मंत्र राम नाम से सुरक्षित स्तोत्र को कंठस्थ कर लेता है ,उसे संपूर्ण सिद्धियां प्राप्त हो जाती है !
  • जो मनुष्य वज्र पंजर नामक इस राम कवच का स्मरण करता है उसकी आज्ञा का कहीं भी उल्लंघन नहीं होता, उसे सदैव विजय और मंगल की ही प्राप्ति होती है ! भगवान शंकर ने स्वप्न में इस राम रक्षा स्तोत्र का आदेश बुध कौशिक ऋषि को दिया था !
  • उन्होंने प्रातकाल जागने पर उसे वैसे ही लिख दिया ,जो कल पर वृक्षों के बगीचे के समान विश्राम देने वाले हैं, जो समस्त विपत्तियों को दूर करने वाले हैं ,और जो तीनों लोगों में सुंदर हैं वही श्री राम मेरे प्रभु हैं ! जो युवा सुंदर सुकुमार महाबली और कमल के समान विशाल नेत्रों वाले हैं ,मुनियों की तरह वस्त्र एवं काले मृग का जन्म धारण करते हैं ,जो फल और कन्द का आहार ग्रहण करते हैं ! जो संयमी तपस्वी एवं ब्रह्मचारी हैं वे दशरथ के पुत्र राम और लक्ष्मण दोनों भाई हमारी रक्षा करें !
  • ऐसे महाबली रघु श्रेष्ठ मर्यादा पुरुषोत्तम समस्त प्राणियों के शरणदाता सभी धनूर पारियों में श्रेष्ठ और राक्षसों के गुणों का समूल नाश करने में समर्थ हमारा दान करें , संधान किए धनुष धारण किए बाण का स्पर्श कर रहे अक्षय बाणों से युक्त तुनीर लिए हुए राम और लक्ष्मण मेरी रक्षा करने के लिए मेरे आगे चलें !
  • हमेशा छत पर कवच धारी हाथ में खड़क धनुष बाण तथा युवावस्था वाले भगवान राम लक्ष्मण सहित आगे आगे चलकर हमारी रक्षा करें !
  • श्री राम दशरथ ईश्वर लक्ष्मणा चूर बली का कुछ पुरुष पूर्ण कौशल लघुतम वेदांत विद्या गेस पुराण पुरुषोत्तम जानकी वल्लभ श्रीमान और अपने पराक्रम आदि नामों का नित्य प्रति श्रद्धा पूर्वक जप करने वाले को निश्चित ही निश्चित रूप से ही अश्वमेध यज्ञ से भी अधिक फल प्राप्त होता है !

राम रक्षा स्त्रोत पाठ कैसे करें ?

अगर आप रोजाना 9 बार इस का पाठ करते हैं इसका जब करते हैं तो आपके जीवन में वह बदलाव आ सकते हैं जो आप कभी भी सोच नहीं सकते तो आप इसको शुरुआत करके देखें इसके साथ जीवन में हर तरह का बदलाव लाया जा सकता है ! प्रभु से उसका संकल्प करें और इसे 9 बार पढ़ना शुरू करें रोजाना आपने यह करना है , एक बार नहीं दो बार नहीं 9 बार पढ़ना है !

Benefits

राम रक्षा स्त्रोत कष्टों का निवारण है , जो किसी भी एक बार राम नाम का स्वाद चख लिया , उसे संसार की कोई दूसरी चीज नहीं भाती है! और राम नाम का सहारा मिल गया उसे फिर संसार की कोई भी चीज परेशान नहीं कर पाती है ! राम सिर्फ एक भगवान का नाम नहीं है , राम का नाम एक दर्शन है जो जीना सिखाता है ! सिर्फ राम का नाम लेने से ही मन हो या आत्मा सब पवित्र हो जाता है ! और भगवान राम का आशीर्वाद पाने का सरल उपाय रक्षा स्तोत्र का पाठ रक्षा स्तोत्र का पाठ है! राम रक्षा स्तोत्र का पाठ विधि अनुसार करने से मनुष्य की सारी परेशानियां दूर हो जाती है !

Download Ram Raksha Stotra

डिस्क्लेमर :- Hindi Gyan किसी भी प्रकार के पायरेसी को बढ़ावा नही देता है, यह पीडीऍफ़ सिर्फ शिक्षा के उद्देश्य से दिया गया है! पायरेसी करना गैरकानूनी है! अत आप किसी भी किताब को खरीद कर ही पढ़े ! इस लेख को अपने दोस्तों के साथ भी जरुर शेयर करे !

Ram Raksha StotraBuy on Amazon

Share on:
About Aakash Kumar

I am a blogger, I have many blogs on which I work regularly, I have many years of experience in this work!