Santan Gopal Mantra Pdf Download in Hindi

श्री Santan Gopal Mantra Pdf का उल्लेख नारद पंचरात्रा में किया गया है ! श्री Gopal Mantra को भगवान महादेव ने देवी पार्वती को बताया है ! इसमें बताया गया है की कोई दम्पति इस पाठ को सच्चे मन से करता है , तो उसे सीघ्र ही संतान की प्राप्त हो जाती है !

हर एक दंपति चाहते हैं की शादी के बाद उनके आंगन में बच्चे की किलकारियों की गूंज सुनाई दें ! कुछ दंपतियों की ये मनोकामना तो जल्दी ही पूरी हो जाती है लेकिन कुछ दम्पति को यह सौभाग्य प्राप्त होने में थोड़ी समस्याओं का सामना करना पड़ता है !

what is Santan Gopal Mantra

Santan Gopal Mantra PDF

दोष उन दंपतियों का भी नहीं है ! ऐसे दंपतियों को उनके परिवार, समाज और रिश्तेदार आदि उन्हें ताने मारने तथा भला बुरा कहने लग जाते हैं ! लेकिन हमारे धर्मशास्त्रों में ऋषि-मुनियों से अनेक ऐसे मंत्रों की रचना की है जिनके प्रभाव से संतान ही नहीं आपके जीवन में आने वाली अनेक समस्याओं से छुटकारा पाई जा सकती है !

लोगों का जीवन सुखमय हो सकता है ! शास्त्रों में ऐसा बताया गया है कि संतान गोपाल मंत्र का नियम से जाप करने से उत्तम पुत्र की प्राप्ति होती है ! और जिन लोगों को दशकों तक डॉक्टरों से इलाज कराने के बाद भी संतान की प्राप्ति नहीं होती है उन्हें इस संतान गोपाल मंत्र के नियम पूर्वक जाप से संतान की प्राप्ति होती है !

और संतान की प्राप्ति में आ रही सभी प्रकार की बाधाएं उनकी दूर हो जाती हैं ! और इस मंत्र के प्रभाव से निश्चित ही संतान की प्राप्ति होती है ! तो आइए आप भी जानें संतान गोपाल मंत्र का जाप कब करना चाहिए, कैसे करना चाहिए, और कितनी संख्या में करना चाहिए !

Santan Gopal Mantra Benefits

ऐसे दंपति होते हैं जिनके घर में संतान की उत्पति नहीं हो रहा है और वो लोग पुत्र संतान की इच्छा रखते हैं ! अगर ऐसे में आप संतान गोपाल मंत्र का जाप नियम पूर्वक करते हैं तो पुत्र प्राप्ति में आ रही सभी प्रकार की बाधाएं आपकी दूर हो जाती हैं ! और आपको मनवांछित संतान की प्राप्ति होगी !

गोपाल मंत्र के प्रभाव से होने वाली आपकी संतान दीर्घायु होती है ! तथा स्वस्थ होती है ! तेजस्वी, यशस्वी और बहुत बुद्धिमान से भरपूर होती है ! इस मंत्र के प्रभाव से आपको होने वाली संतान की बहुत तीक्ष्ण बुद्धि होती है ! लेकिन इस मत्र के जाप के दौरान कुछ नियम बहुत जरुरी होते हैं ! जिनका पालन करना बहुत होता है ! तभी इस मंत्र का आपको शुभ फल प्राप्त होता है !

Method of chanting Santan Gopal Mantra

आपको इस पाठ को करने के लिए सूर्योदय के पूर्व आप उठना प्रारंभ करना होगा !
उठने के बाद नित्य क्रियाओं से निवृत होकर स्नान कर ले !

  • स्वच्छ वस्त्र धारण करके आप भगवान सूर्यदेव को जल अर्पित करें !
  • भगवान सूर्यदेव को आप तांबे के लोटे में ही जल अर्पित करें ! और उस जल में थोड़ी सी हल्दी, रोली डालकर ही सूर्यदेव को जल अर्पित करें ! इससे संतान प्राप्ति में आ रही बाधाएं दूर हो जाती हैं !
  • सूर्यदेव को जल देने के बाद आप अपने घर के ईशान कोण में भगवान श्रीकृष्ण के बाल रूप की मूर्ति अथवा चित्र या लड्डू गोपाल लकड़ी की चौकी पर पीले रंग कपड़ा बिछाकर स्थापित करें !
  • चौकी पर बालगोपाल से पहले आप गणेशजी की मूर्ति स्थापित करें !
  • चौकी पर आपको प्रतिदिन शुद्ध घी का दीपक जलाना है ! और तांबे के पात्र में चौकी के पास जल रखना है ! इसके बाद आप आसन बिछाकर वहां बैठ जाएं ! और सबसे पहले गणपति जी का पूजन करें ! गणपति जी को दूर्वा और मोदक आदि का भोग लगाएं ! उसके बाद आप गोपाल जी का पूजन करें और गोपाल जी को भी माखन और मिश्री का भोग लगाएं ! आप चाहें तो गोपाल जी को छप्पन भोग भी लगा सकते हैं ! और गोपाल जी को भोग लगाने के बाद संतान गोपाल मंत्र का 108 बार जाप करें !

Santan Gopal Mantra

श्रीगोपालकवचम् || श्री गोपाल कवचम्
श्रीगणेशाय नमः ॥

श्रीमहादेव उवाच ॥
अथ वक्ष्यामि कवचं गोपालस्य जगद्गुरोः !
यस्य स्मरणमात्रेण जीवनमुक्तो भवेन्नरः ॥ १ ॥

श्रृणु देवि प्रवक्ष्यामि सावधानावधारय !
नारदोऽस्य ऋषिर्देवि छंदोऽनुष्टुबुदाह्रतम् ॥ २ ॥

देवता बालकृष्णश्र्च चतुर्वर्गप्रदायकः !
शिरो मे बालकृष्णश्र्च पातु नित्यं मम श्रुती ॥ ३ ॥

नारायणः पातु कंठं गोपीवन्द्यः कपोलकम् !
नासिके मधुहा पातु चक्षुषी नंदनंदनः ॥ ४ ॥

जनार्दनः पातु दंतानधरं माधवस्तथा !
ऊर्ध्वोष्ठं पातु वाराहश्र्चिबुकं केशिसूदनः ॥ ५ ॥

ह्रदयं गोपिकानाथो नाभिं सेतुप्रदः सदा !
हस्तौ गोवर्धनधरः पादौ पीतांबरोऽवतु ॥ ६ ॥

करांगुलीः श्रीधरो मे पादांगुल्यः कृपामयः !
लिंगं पातु गदापाणिर्बालक्रीडामनोरमः ॥ ७ ॥

जग्गन्नाथः पातु पूर्वं श्रीरामोऽवतु पश्र्चिमम् !
उत्तरं कैटभारिश्र्च दक्षिणं हनुमत्प्रभुः ॥ ८ ॥

आग्नेयां पातु गोविंदो नैर्ऋत्यां पातु केशवः !
वायव्यां पातु दैत्यारिरैशान्यां गोपनंदनः ॥ ९ ॥

Santan Gopal Mantra Pdf Download

डिस्क्लेमर :- Hindi gyanकिसी भी प्रकार के पायरेसी को बढ़ावा नही देता है, यह पीडीऍफ़ सिर्फ शिक्षा के उद्देश्य से दिया गया है! पायरेसी करना गैरकानूनी है! अत आप किसी भी किताब को खरीद कर ही पढ़े ! इस लेख को अपने दोस्तों के साथ भी जरुर शेयर करे !