Saraswati Stotram Pdf Download With Lyrics

Saraswati Stotram को आप यदि डाउनलोड करना चाहते है तो आप हमारे इस वेबसाइट से डाउनलोड कर सकते है ! तथा आप हमारे इस वेबसाइट से Saraswati Stotram के बारे में विस्तृत जानकारी ले सकते है !

Saraswati Stotram

What is Saraswati Stotram ?

नील सरस्वती माता मातंगी मां के नाम से जाना जाता है , जो कि 10 महाविद्याओं में नौवें स्थान पर आती है ! यह स्कूल की विद्या मानी जाती है ! जो प्रतिदिन नील सरस्वती स्तोत्र का पाठ करता है , उस पर मां मातंगी की विशेष कृपा होती है ! जो व्यक्ति कम से कम 6 महीने तक लगातार की पाठ करते है तो वो व्यक्ति जो भी बोलते हैं उसकी बात लगभग सत्य हो जाता है !

जो सरस्वती स्तोत्र का पाठ करते उसपर बड़ी कृपा होती है , यदि आप इसका लगातार पाठ करते हैं तो आपने चाहत में कोई नहीं जीत सकता वह हमेशा विजय प्राप्त करता रहता है ! जब वह बोलता है तो लाखों की संख्या में हजारों की संख्या में लोग सुनते चले जाते हैं ,क्योकि उसके वाणी में मधुरता आ जाती है ! इस प्रकार की हो जाती है कि व्यक्ति उसे सुनते ही जाते हैं !

यदि आप और मल्लिका के मां भगवती कि आराधना करेंगे तो आपको पता ही इसका लाभ मिलने लग जाएगा ! इसलिए जब भी आप इस स्तोत्र का पाठ करें ,तब आप पलाश के फूलों से भगवती की आराधना करें भगवत जी को चढ़ाएं और नित्य का पाठ करें ! आप अनुभव स्वता ही जान जाएंगे !

मोक्ष की प्राप्ति

इस के द्वारा इतना ही नहीं मोक्ष चाहने वाले को मोक्ष विजय चाहने वाले को विजय और सुख जाने वाले को सुख मिलता है ! अर्थात जिसको जो चाहिए उसे इस स्त्रोत्र के द्वारा मिलता है ! यदि आपको इसको और अच्छा बनाना है तो आपको भगवती के मंत्र की माला आपको जाप करना चाहिए जो कि मंत्र है !

मातंगी मां का मंत्र ओम हीम क्लीम हो मातंगे फट स्वाहा इस मंत्र की आपको एक माला जाप जरूर करना चाहिए ! उसके बाद आपको इस स्तोत्र का पाठ करना चाहिए आपकी वाणी में मधुरता आएगी चेहरे पर चमक आएगी चेहरे पर तेज आ जाएगा ! जिससे शत्रु अपनी शत्रुता भुला देगा आपको चाहिए तो मोक्ष की प्राप्ति हो जाएगी और जिस की वाणी में प्रभाव है उसने दुनिया जीत को जीत लिया ऐसा मन जाता है !

Saraswati Stotram in Hindi

  • भयानक रूप वाली घोर निनाद करने वाली शत्रू को को भयभीत करने वाली हे देवी आप मुझ शरणागत की रक्षा करो !
  • जो कुण्ड के फूल, चंद्रमा वर्फ और हार के समान श्वेत हैं ,जो शुभ कपड़े पहनती हैं ,जिनकी हाथ उत्तम बिना से शुसोभित है ,जो स्वेत कमल बैठती है, ब्रह्मा विष्णु महेश आदि देव जिनकी सदा स्तुति करते हैं, वो भगवती सरस्वती मेरा पालन करें !
  • यह कमल पर बैठने वाली सुंदरी सरस्वती तुम शब्दों में पूंजी भूत हुई अपने लता की आवाज से ही छह समुन्द्र को दास बनाने वाली और अपने मुस्कान से चंद्रमा को शुशोभित करने वाली हो तुमको मैं प्रणाम करता हूं !
  • सत्काल में उत्पन कमल के समान मुख वाली और सब मनोरथ को देने वाली शारदा सब संपत्तियों के साथ मेरे मुख में सदा निवास करें !
  • उन वचन से अधिकृत देवी सरस्वती को प्रणाम करता हूं जिनकी कृपा से मनुष्य देवता बन जाता है, बुद्धि रूपी सोने के लिए कसौटी के सामान सरस्वती जी जो केवल वचन से ही विद्वान और मूर्खों की परीक्षा कर देती हैं, हम लोगों का पालन करें !
  • जिनका रूप श्वेत है, जो ब्रह्म विचार की परम तत्व हैं, जो सब संसार में फैल रही हैं, जो हाथों में वीणा और पुस्तक धारी के रहती हैं ,अभय देती हैं, मूर्खता को दूर करती हैं, हाथ में मनी की माला लिए रहती हैं ,कमल के आसन पर विराजमान होते हैं, और बुद्धि देने वाली हैं उन अध्या प्रेशमरी सरस्वती की वंदना करता हूं !
  • हे बिना धारण करने वाली अपार मंगल देने वाली भक्तों के दुख छुड़ाने वाली ब्रह्मा विष्णु और शिव से वंचित होने वाली मनोरथ देने वाली पूज्य बरा और विद्या देने वाली सरस्वती तुमको नित्य प्रणाम करता हूं !
  • हे स्वेत कमलों से भरे हुए निर्मल आसन पर विराजमान श्वेत वस्त्र पहने हुए सुंदर श्वेत शरीर वाली और विद्या देने वाली सरस्वती तुमको नित्य प्रणाम करता हूं !
  • हे माता जो मनुष्य तुम्हारे चरण कमलों में भक्ति रखकर और सब देवताओं को छोड़कर तुम्हारा भजन करते हैं वह पृथ्वी अग्नि वायु आकाश और जल इन सब तत्वों से बने हुए शरीर ही देवता बन जाते हैं !

Download Saraswati Stotram

डिस्क्लेमर :- Hindi Gyan किसी भी प्रकार के पायरेसी को बढ़ावा नही देता है, यह पीडीऍफ़ सिर्फ शिक्षा के उद्देश्य से दिया गया है! पायरेसी करना गैरकानूनी है! अत आप किसी भी किताब को खरीद कर ही पढ़े ! इस लेख को अपने दोस्तों के साथ भी जरुर शेयर करे !


Download Saraswati StotramBuy on Amazon