Shani Kavach Pdf Download in Hindi ! Shani Kavach Strotra , benefits in hindi

Shani Kavach का नियमित पाठ करने से हमारे जीवन की चाहे जितनी भी बड़ी बाधा हो सब दूर हो जाता है ! कहा जाता है कि शनि देव सूर्य का पुत्र है ! और शनि ग्रह का प्रकोप अपने पिता सूर्य देव को भी नहीं छोड़ा ! इसलिए शनि ग्रह का प्रकोप से बचने के लिए अनेक मंत्र , जाप, पाठ इत्यादि कर सकते हैं ! शनि देव के कई प्रकार के मंत्र, स्त्रोत, या पाठ हैं उसमे से सबसे महत्वपूर्ण Shani Kavach है !

Shani Kavach का प्रयोग युद्ध क्षेत्र में जाने से पहले सैनिक अपने शरीर पर एक लोहे का कवच धारण कर लेते हैं , ताकि दुश्मन के वार से उसे ज्यादा कष्ट या चोट ना लगे , और शायद इसी शनि कवच के वजह से सैनिक सुरक्षित रह जाते है !

What is Shani Kavach ? (शनि कवच क्या है?)

Shani Kavach

जब किसी पर भी शनि ग्रह प्रकोप होता है तो उसे काफी परेशानी का सामना करना पड़ता है ! वो हर तरफ से परेशानी का सामना करते हैं , चाहे वह पैसा हो या शरीर ! शनि ग्रह प्रकोप से बचा तो नहीं जा सकता क्योंकि वो अपने पिता को भी नहीं छोड़ा !

शनि कवच का पाठ करने पर व्यक्ति कवच से सुरक्षित रहता है ! इस कवच को “ब्रह्माण पुराण” से लिया गया है, किसी प्रकार की हानि उस व्यक्ति को शनि की दशा/अन्तर्दशा में नहीं पहुंचा पाती है ! कवच का अर्थ ही ढाल या रक्षा करने वाला होता है ! जो व्यक्ति शनि कवच का पाठ नियम से करता है उसे शनि महाराज डराते नहीं है ! उस पर शनि देव अपना प्रकोप कम कर दिया करते हैं !

What is Shani Grah ?(शनि ग्रह क्या है?)

आठ ग्रहों में सर्व श्रेष्ठ शनि ग्रह को माना जाता है , वेद और पुराण को माने तो यह सूर्य देव के पुत्र हैं ! आठ ग्रहों में सबसे ख़तरनाक शनि ग्रह होता है ! ये ग्रह इतने ख़तरनाक है कि अपने प्रकोप से अपने पिता को भी नहीं छोड़ा ! इस ग्रह का प्रकोप जिस भी पुरुष या महिला पर हो जाता है उसे काफी परेशानी का सामना करना पड़ता है !

शनि देव को प्रसन्न कैसे करें?

जिन व्यक्तियों पर शनि की ग्रह दशा का प्रभाव बना हुआ रहता है , उन्हें इसका पाठ अवश्य करना चाहिए ! कोई व्यक्ति इस कवच का पाठ करता है तो शनि देव उस पर प्रसन्न होते है , और उसका सभी मनोरथ पूर्ण करते हैं ! जन्म कुंडली में शनि ग्रह के कारण अगर कोई दोष भी रहता है तो इस कवच के नियम से पाठ करने से दूर हो जाते हैं !

अगर आप या आपके परिवार में कोई भी शनि की दशा से गुजर रहे हैं या गुजरने वाले हैं , तो प्रति शनिवार ‘शनि कवच’ का पाठ अवश्य करें या ‘शनि कवच’ का पाठ करने का सलाह दे ! यह पाठ शनि देव के प्रकोप को शांत हो जाता है ! और शनिदेव की प्रसन्नता और कृपा प्राप्त होती है !

शनि देव की पूजा कब और कैसे करें?

हर शनिवार के दिन शनि कवच का पाठ करने से जीवन में सुख और शांति प्राप्त होती है ! अंत में शनि की धूप व दीप आरती करें और जीवन में जो कुछ भी गलतियां हुई हो उसके लिए , वचन व कर्म से हुई त्रुटियों की क्षमा मांग प्रसाद ग्रहण करें ! जाने-अनजाने में हुए पाप-कर्म एवं अपराधों के लिए शनिदेव से क्षमा याचना मांगे ! इससे शनि देव सारे गलतियों को माफ कर देते हैं !

Shani Kavach benefits in hindi (शनि कवच के फायदे)

कोई भी व्यक्ति शनि की साढ़ेसाती व सैया चल रही है वो व्यक्ति अगर शनि कवच का पाठ करता है तो उन्हें मानसिक शांति प्राप्त होती है ! और एक अदृश्य कवच उनको सुरक्षा देते रहता है साथ में भाग्य का उदय प्राप्त होता है ! शनि कवच का पाठ एक प्रकार का शनिदेव के आशीर्वाद प्राप्त करने का एक माध्यम माना जाता है !

 यह कवच मन के अवसाद और अकर्मण्यता राज्य से निपटने के लिए सहायता करता है ! व्यापार में सफलता, पढ़ाई और जीवन के अन्य क्षेत्रों में सफलता प्राप्त करने के लिए शनि कवच का पाठ जरूर करें ! 

Download Shani Kavach

डिस्क्लेमर :- Hindi Gyan किसी भी प्रकार के पायरेसी को बढ़ावा नही देता है, यह पीडीऍफ़ सिर्फ शिक्षा के उद्देश्य से दिया गया है! पायरेसी करना गैरकानूनी है! अत आप किसी भी किताब को खरीद कर ही पढ़े ! इस लेख को अपने दोस्तों के साथ भी जरुर शेयर करे !